1000+ dil tutne ki shayari in hindi | dard bhari shayari

Best dil tutne wali shayari

Hello friends, today we have brought you a new and lovely blog post, whose name is Dil tutne ki Shayari. Friends, if you have recently had a breakup or your proposal is not doing any accept then friends, this dil tutne ki Shayari is only for you, In this blog post, you will find some dil tutne ki Shayari that you have never heard of in your life, you will find this dil tutne ki Shayari written very well in this post.

 If someone has broken your heart, then you must read this Shayari once and the person who has broken your heart, you can also express your heartache through these Shayari by sending this dil tutne ki Shayari. In this dil tutne ki Shayari post, you will find many lovely Shayari which you can read and put an ointment on your broken heart. We have written these Shayari with the same eye keeping those people Whose love has been broken recently by someone Our team has done a lot of research and added some wonderful Shayari in this post. 

In this post, you will get to see many ways of Shayari such as dil tutne ki Shayari, Dil tutne ki Shayari photos. etc

Let's start 

तुम तो अक्सर किया करते हो प्यार मोहब्बत की बातें पर इस हसीन मोहब्बत के जख्मों का तुम्हे एहसास नही इश्क़ का चांद तो दिखता है पूरी कायनात को पर उस इश्क़ के चाँद को पाना हर किसी के बस की बात नही

Dil tutne ki shayari
Dil tutne ki shayari

अब तो मोहब्बत के रास्ते पर से हर पल गिर जाता है दिल वफाई के नाम से तो अक्सर कांप उठता है दिल अब तो हमें किसी गैर के दिलासे की कोई जरूरत नही क्योंकि अब तो आसुओंको पीना सिख चुका है दिल 

Dil tutne ki shayari
Dil tutne ki shayari

में तो कभी नही समझा तेरे इन मासूम सी आखों का ये तकाज़ा क्या है कभी पर्दा कभी जलवा ये तमाशा क्या है

Read must : sad shayari in hindi 

कई लाख गम सहें पर कभी भी इन मासूम आखों में आंसू नही आया हम तो पहले ज़र्फ़ पिया करते है कभीभी छलकाया नही करते 

इश्क़ तो एक गीत है आशीकों को गुनगुनाने के लिए मोहब्बत तो एक शेर है लोगोंको सुनने के लिए ये वो मौका है जो हर किसी के नसीब में नही होता क्योंकि जिगरा चाहिये इसे निभाने में 

अब तुम्हारा हाल किस तरह है और मिजाज किस तरह है कल तो सभी का बुरा ही बीता जनाब बताओ आपका आज कैसा है हमारे इस कम्बखत शहर में है इश्क़ का हर इंसा दुश्मन तुम बताओ दोस्त तुम्हारा शहर का रिवाज कैसा है 

Dil tutne ki shayari
Dil tutne ki shayari


Gum se bhari shayari in hindi  

किसी से दिल लगाने की कभी भी इजाजत नहीं मांगी जाती ये तो मोहब्बत है जनाब कभी भी पूछकर की नही जाती

Read also : shubh sakal marathi suvichar

किसी भी इंसान को अपने अकेले होने का एहसास तब होता है जब उसका कोइ अपना चाहनेवाला किसी और के साथ होता है 

जब इस दुनिया को जरूरत हो तभी जलाओ अपने दिल में छिपी आग को क्योंकि सूरज की रोशनी में चिरागों की कभी अहमीयत नही होती 

इस मासूम चेहरे पर बनावटी गुस्सा और आँखों में मोहब्बत भी है इनके इस गज़ब सी अदा के क्या कहने जनाब इनके गुस्से में इश्क़ का स्वाद भी है 

इस कम्बखत और मतलबी जहां ने अपने ऊपर इतने ज्यादा  छल कपट के पर्दे दाल रखे है की किसी इंसान के दिल में किसी के लिए मोहब्बत देख पाना भी बहोत मुश्किल है अब तो सीधा सपनों के जहां में गुफ्तगू होगी उनसे पर यहां तो उनके बिना नींद का आना भी बहोत मुश्किल है 

Dil tutne ki shayari
Dil tutne ki shayari

में तो हर गुजरते हुए लम्हों का दीदार करता हूँ मैं किसी की कही कड़वी बातें भलेही भूल जाउ पर उनकी हरकतें हमेशा अपने जहन में दबाके रखता हूँ थोड़ा सम्भलकर गुजरता हूँ इन झुटे लोगोंकी महफिलों से,जो इंसान रोते वक्त कंधा दे जाये उसे उम्रभर अपने दिल में समां कर रखता हूं  

Read also : bhai behen shayari  

चलो ये भी मांन लिया कि वो मुझसे दुखी रहे होंगे ये भी हो सकते है कि वो मेरी परीक्षा ले रहे होंगे हम तो उसी तरह से हर पल याद करते रहेंगे उन्हें जिस तरह वो हमें भुला रहे होंगे  

इस कम्बखत जहां पर हर पल हर जगह भटकती रहती मोहब्बत हवस के नाम पर दो रूहों की मोहब्बत को देखे एक अरसा बीत गया 

अब तो हमें अंधेरा भी नही ङस्ता जितना हमें आजकल उजाला मार रहा है जो और हमारे दुश्मन हमें यू जख्म नही दे रहे जैसे जख्म मुझे मेरा यार दे रहा है 

Dil tutne ki shayari
Dil tutne ki shayari

 Pyaar main dil tutne wali shayari

जो प्रेमी अपने जिंदगी में समाज के कानून कायदों का पालन करते है इश्क़ में वो अपनी जिंदगी का सबसे बड़ा गुनाह करते है प्यार तो कम्बखत वो जुनून है जहां दो चाहनेवाले लोगों की  खुशी से खुद को तबाह करते हैं

 Read now : shayari for best friends birthday

हमें यूँ आदत नही है किसी के आगे पीछे गुफ्तगू करने की हम थोड़ा कम ही बोलते है पर सबके सामने बोलते है 

हम तो रातों की नींद को छोड़ कर उनके सपनों में हमेशा खोते गए होश तो हमें हर पल था पर फिर भी हम मदहोशी का शिकार होते गए बडाही गजब का नूर था उस कम्बखत की निगाहों में उसकी एक झलक देखते ही हम उसके हो गए

Dil tutne ki shayari
Dil tutne ki shayari

 Read must : zindagi shayari

हम दूसरोंकी खुशियां छीनकर भी क्या करेंगे हम जो मुस्कान हमारी खुद की नही है वो लेकर क्या करेंगे हम यूँ उम्रभर अकेले रहकर क्या करेंगे हम इस से बेहतर है मर जाएं हम जब हमारे जीने की वजह ही हमारे साथ नही तो ये कम्बखत जिंदगी जीकर भी क्या करेंगे हम 

मेरी उम्र थोड़ी छोटी है तो क्या हुआ जनाब इस जिंदगी में  अच्छा बुरा हर एक चीज़ देखी है लोगों के चेहरेपर मुस्कुराहट और हमारे पीठ में खंजर घुसते हुए देखा है 

Dil tutne ki shayari
Dil tutne ki shayari

आज तो मैंने भी मोहब्बत से पूरा बदला लिया एक कलम और एक कोरा कागज लिया और उसपर मोहब्बत लिखकर उसे नाली में बहा दिया   

बहोत दिनों से अपने आप सुलाने की कोशिश कर रहा था में तेरे हसीन ख्वाब का बहाना देकर 

इस कम्बखत जिंदगानी की की सच्चाई बस इतनी सी होती है जब हर घड़ी मेहनत करता रहता है इंसान तब उसकी किस्मत सोती रहती है जब भी आदमी खुद से ज्यादा किसी चीज़ को चाहने लगता है वो चीज़ अक्सर किसी और कि होती है

Dil tutne ki shayari
Dil tutne ki shayari

ये कम्बखत दुनिया अक्सर कहती है किसी इंसान के हमारी जिंदगी से चले जाने के बाद हमारी जिंदगानी अधूरी नही होती पर हजारों लोगों के मिल जाने से उस एक इंसान की कमी पूरी भी नही होती 

हमेशा सन्मान किया करो उनका जो तुमसे बिना कुछ मांगे तुमपर पूरी तरह से अपनी जान न्यौछावर किया करते है इस मतलबी दुनिया में हमें समझने वाले कम और हमारे लिए मुश्किलें खड़ी करने वाले लोग ज्यादा होते है 

अब तो बस तुम्हारे खयालों से ही है रिश्ता हमारा वर्ना ये दुनिया तो हमें हर पल अनजान लगती है 

मुझे तो अब पहले के शौक कहा याद अब तो मैं बस साधारण व्यक्ति होना चाहता हूं। में तो ऐसा दीवाना हूँ तेरी अदाओं का की तेरी बेवफाई के बाद भी तेरे आँखों के समुन्दर में डूबना चाहता हूं

Best Dil ka tutkar rone wali shayari 

Dil tutne ki shayari
Dil tutne ki shayari

इश्क़ की राह में सबसे समझदार वही इंसान होता है जो जिंदगी के हर मोड़ पर रिश्तों के खातिर हर बार झुकता रहे और सबसे बड़ा नासमझ वही जो हर पल अपना EGO दिखाये

हर सुबह इंतज़ार रहता है तेरा, एक पल भी नही कटता बिना नाम लीये तेरा, अब तो एक अरसा हो गया ऊपरवाले से मन्नत मांगे हर दिन लगता है आज आएगा पैगाम तेरा 

Dil tutne ki shayari
Dil tutne ki shayari

मेरी आँखों में बन गया है एक नया समुन्दर तेरे दिए आसुओं का सबसे प्यारा नशा है तेरे इंतज़ार का 

तुम्हारे पास भी कमी नही मुसीबतों की हमारे पास भी बेशुमार है ये कम्बखत मुसीबतों को भी बढिहि फुरसत है जो घूमती हर जगह है 

अब तो बस तुमसे एक ही गुजारिश हौ अगर उम्रभर हमारे न हो सको तो बस किसी तरह मुझे इतना नाकाम कर देना अगर कोई मेरा होना भी चाहे तो हमसे मिलते ही उसका मन बदल देना  

इस जिस्म की भूखी दुनिया में सभी लोग चटोरे है हमने  कितनी बार लिखी ये सच्चाई फिर भी सारे कागज़ कोरे है

हमें यूँ तन्हा छोड़कर वो कहीं किसी और की मोहब्बत में मषरूफ़ है अगर उसकी खुशियोंका खुद ही दुश्मन बनूँ तो मेरी मोहब्बत का क्या PROOF है  

तुम तो कई बार छुपाने की कोशिश करते हो इत्र हमारे इश्क़  का पर जब भी सुबह उठते हो महक पूरे शहर में फैल जाती है 

 

Friends, our heartbreaks only when we start trusting someone more than ourselves. we start raising expectations from them that he will always take care of us. Some people even think that they will spend their whole life with someone And when thinking about these things, we get cheated by that person, then we break down and disintegrate. And at the same time, such a post like dil tutne ki Shayari gives us support, such a post makes us understand that it makes us feel the pain inside us. 


Posts like dil tutne ki Shayari serve to satisfy us in our life If you read this dil tutne ki Shayari post carefully, then you can especially describe your life's sorrows. And to support you in doing this, most of our dil tutne ki Shayari

मेरे खुशनुमा सपनों में आकर मुझे अपनी मौजूदगी जताना ये तेरा कसूर था और तेरी इन नशीली आखों में खो जाना मेरा कसूर था किसीने दी थी कुछ पलों के लिए राहत इस कम्बखत जिंदगी में और उस राहत को उम्रभर एक एहसास बना लेना मेरा कसूर था

Dil tutne ki shayari
Dil tutne ki shayari

तू अब किस हद तक हमपर यू जुल्म ढाता रहेगा एक दिन जरूर झूट का अंधेरा मिटाने सच्चाई का सूरज आएगा 

इस जिंदगानी की भाग दौड़ में मेरा अनुभव बहोत ही कच्चा रह गया में अपनी जिंदगी में कभी सिख नही पाया छल कपट इसलिये दिल बच्चा रह गया 

अगर अपना नजरिया सही होता है तो बुराई में भी अच्छाई नजर आती है वर्ना आसुओंसे भीगी पलकों से तो साफ आईना भी धुंधला दिखाई देता है

अब तो हमने भी पूरी तरह से उदासी और दर्द को झेलना सिख चुके हैं अब तो हम अपने दिल की आवाज को दबाना सिख चुके है किस तरह से दिखाऊँ दोस्तों के कितनी चोटें है इस नाजुक से दिल पर अब तो मौत के आने से पहले अपने कफन पर सोने लगे है

30+ gum se bhari shayari 

Dil tutne ki shayari
Dil tutne ki shayari

लाख दुश्मन है इस जहां में हमारे पर बस एक पक्की दोस्त तुम हो कई दर्द है इस दिल में पर इस दिल की राहत तुम हो 

तेरा नाम मेरे कानों में पड़ते ही मेरे लबों पर एक प्यारी सी हसी छूट जाती है मुझपर कितनी भी बड़ी से बड़ी मुसीबत क्यों न हो मेरी जान में जान आ जाती है

जिंदगी के राह में ये एक गजब का मोड़ आया है हमारे दिल में बरसों से दिल में छुपा हुआ दर्द आज इस जुबां पर आया है आज तक न रोये हम काटों की जख्म से आज अचानक से बगीचे को देखकर रोना आया 

बडीहि बारीकी से समझते रहे तेरे हर काम को भुलाने की कोशिश तो बहोत की मगर भुला न सके तेरे नाम को 

हमें जब भी उसका कोई खयाल हमारी रूह से टकराता है तो हमारा ये दिल कभी न चाहते हुए भी अक्सर खामोश हो जाता है कुछ लोग सारी बातें कर के भी कुछ नही कह पाते है और कोई इंसान बिना होठं हिलाये दिल की दास्ताँ सुना जाता है 

Dil tutne ki shayari
Dil tutne ki shayari

मेरी कदर तुमको भी होगी एक दिन जब अकेलेपन से घिरोगे तुम अभी तो तुम्हे दिल लगाने को सारा जहां बाकी है

हमपर तेरी मोहब्बत ये एहसान उधार रहने दो बडाही प्यारा कर्ज़ है ये हमें यूँही ता उम्र तुम्हारा कर्ज़दार रहने दो    

तेरा ये मतलबी दिल कभीभी मेरे दिल जैसा नही हो सकता तुम्हारा पानी जैसा साफ नही हो सकता हमारा पत्थर जैसा नही हो सकता 

हमने तो बड़े गुरुर से सोचा था कि जरूर समझोगे तुम मेरे नाजुक हालातों को पर आपने तो हमारे खयालात ही बदल दिए

उन्हें तो थोड़ी सी भी खबर नही की कितने बत्तर हालातों से रूह हमारी गुजरी है हम तो ता उम्र तन्हा रह गए पर ये दिन तो जैसे तैसे निकाल लिए पर ये कम्बखत रातें एक दर्द बनकर ये हमारे दिल में उतरी है

जी जनाब सोचा तो हमने भी बहोत था कि हम भी तरसायेंगे उसे कोई हमें हमदर्द मिल गया यह कहकर बहोत जलाएंगे उसे फिर एक हल्का सा खयाल आया की उसे यूँ तरसाकर दर्द तो आखिर मुझे ही होगा फिर किस मुह से सताये हम उसे 

Breakup ki shayari hindi main 

Dil tutne ki shayari
Dil tutne ki shayari

हमने तो खुदके साथ तब बहोत बुरा किया जब पहली बार तेरा दीदार किया दूसरी दफा तो गुनाह ही कर दिया हमने जो तुझ जैसी से इश्क़ किया 

अब तो हमें उतना ये सुमसान रात नही डस्ती जितना ये सुबह का कम्बखत उजाला तंग करता है  ऐसी हरकत तो हमारे दुश्मन नही कर रहे जैसा हमारा प्यार कर रहा है 

अब तो फूल भी सूख गए जनाब भरे गुलदान से बाहर कब निकलेंगे हम तो अब भी गम की बारिश में भीग रहे है इस गम की बारिश से हम अब बाहर कैसे निकलेंगे 

हमारी जिंदगी में कितनी उदासी है हम आपको कभी दिखा नही सकते है इस नाजुक दिल पर घांव कितने गहरे है हम आपको दिखा नही सकते है जरा अपनी नजर हमारी आँखों पर तो डालो इन आँखों से आंसू इतने बहे है कि हम आपको एक एक करके गिना सकते है 

Dil tutne ki shayari
Dil tutne ki shayari
वो हमें अकेले छोड़ कर गए तबसे हमारे बीच की दूरियों की गहराई और बढ़ा कर गयी हमारी सच्ची मोहब्बत को न जाने क्यों तोड़ गयी हमें अब ये अकेलापन काटों सा चुभता है तो क्या हुआ जनाब उसकी दिली तमन्ना तो कमसे कम पूरी हो गयी 

धीरे धीरे से कोई रोज हमारे सपनों में आया करता है वो कोई तो है जो मेरी हर चीज को बड़े ही संभाल कर रखा करता है उसे तो हम हर पल धन्यवाद करते है जो हम जैसे नाकारा इंसान को इश्क़ का समुन्दर दिखाया करता है

हम सब कुछ जानते है की तूम हर पल क्यों जीते हो इस कम्बखत जमाने के लिए कम से कम जिंदगी के कुछ पल तो जिकर देखो हमारे लिए हमारी हदों का कभी मत सोचना जनाब जहां मांगो वहां पर आकर देदेंगे जान आपके लिए 

मोहब्बत की बरसती बूंदे कभी किसी के लिए रुकती नही इश्क़ करने वाले लोग कभी किसी के सामने झुकते नही हम तो किसी वजह से चुप बैठे ही वरना तू कभी ये मत समझ हमारा दिल कभी दुखता नही  

नए दिन की नई सुबह हुई है सुबह कुछ वक्त बाद अंधेरी रात भी होगी दिल पर मत ले मेरे दोस्त उस हमदर्द प्यार से बात  बात भी होगी वो हमदर्द है ही इतना हसीन जिंदगानी रही तो उस से मुलाकात भी होगी

Dil tutne ki shayari
Dil tutne ki shayari

हर मुश्किल में साथ खड़े होने का वादा है तुझसे हमारे जिंदगी में अकेलेपन को मिटा कर खुशियां भर देने वाला सहारा तुझसे अपने दिल में कभी ये खयाल मत लाना की तुझे यूँही भूल जाएंगे हम तेरी सूरत को जिंदगी भर साथ निभाने का वादा है तुझसे

कितनी दरारें है इस टूटे दिल में फिर भी उनका एहसास नही है एक इंसान था जो हमारे बिन कहे हमारी सारी बातें जान लेता था पर अब तो वो भी हमारे आस पास नही है हमें तो उनकी नशीली आखों ने पूरा बर्बाद कर दिया फिर भी वो हँसकर कहते है कि हमें तुमसे कोई प्यार नही है 

हमारी किस्मत बदल जाने से हमें कभी इतनी ज्यादा तकलीफ नही हुआ करती जितना हमारे अपने मेहबूब के बदल जाने से हुआ करती है

अब तो कभी रुकता ही नही और कभी जिंदगी की राह पर ठीक से चलता भी नही हमारा ये टूटा हुआ दिल तुम्हारे चले जाने के बाद अब ठीक से संभलता ही नही है ये घाव किस खंजर का है जनाब जो मरहम लगाने के बाद भी दिल से जाता ही नही

Dil tutne ki shayari
Dil tutne ki shayari

हमें यूँ काफीर कहते रहोगे तो आपका क्या होगा अगर हमारा भी वही भगवान निकला तो तुम्हारा क्या होगा 

अब तो हमें जरा भी नही मिलता इस हसीन दुनिया के लिए वक्त हर पल तुम्हारी बेवफाई का खयाल जो आता है 

हमें यूँ आदत नही है यूँ हर किसी की अदा पर फिदा होने की पर तुम्हारी नखरों ने हमें संभलनेका मौका तक नहीं मिला

अब तो जिंदगी भी उदासी से भरी हुई लगती है हमें ये कमबख्त जिंदगी अब हमारे दिल में चिराग तो रोज जलते है पर रोशनी थोड़ी भी नही होती

ये भी साल है अब बदल चुका इसी साथ बदलनी हमें उनकी कहानी है उनकी बची कुची यादों और तस्वीरों को भी हमें अब जलानी है मेरे इन जख्मो पर कभी मत लगाओ तुम इश्क़ का मरहम मेरे पास तो बस यही एक उस कम्बखत की निशानी है

Dil tutne ki shayari
Dil tutne ki shayari

तुझे क्या लगता है हमें तेरे इश्क़ के वो हसीन दिन याद नही आते कोई पगली इंसान अपनी बरबादी की वजह कैसे भूल सकता है  

आज मैं टूटकर बिखर गया हूँ तो मुझसे बचकर रह रहे हो कल एक साफ आईना था तो मुझे हर दिन छुप छुप कर देखा करते थे

हम तो तुझे कभीभी मजबूर नही किया करेंगे तुझे मोहब्बत का वो हसीन वादा निभाने के लिए बस एक ही एहसान करदे लौट आजा अपनी यादोंको समेटने के लिए

मोहब्बत का थोड़ा सा हिस्सा तो उसके दिल में भी मौजूद होगा जनाब सिर किसी पराये का दिल तोड़ने के लिए कौन है जो अपना कीमती वक्त यूँही जाया किया करता है 

हमारा ये टूटा दिल तो तब चकनाचूर हुआ जब वो हमें छोड़ कर बिदा हुए हम नाकाम तो तब हुए जब वो हमसे जुदा हुए हमारी सच्ची मोहब्बत पर हमें तब शर्म आयी जब उनके बेवफाई वाले तोहफे हमें मुफ़्त में मीले  

Dil tutne ki shayari
Dil tutne ki shayari

खेल लेने दो उन्हें जब तक पूरी तरह से वो संतुष्ट नही हो जाते उनका झूठा प्यार तो बस दो दिनों का था तो उनका ये शौक आखिर कितने दिनों का होगा 

पता नही इन आँखों को रात में क्या हो जाता है जैसे ही शाम ढलती है आखों में से आंसूओका सैलाब उमड़ आता है

लाख दुख है इस सीने में बस एक पर हमारे लिए राहत हो तुम नफ़रतें तो हर जगह है इस दुनिया में बस हमारी चाहत हो तुम 

इस दुनिया में हर तरफ दुखों की परछाईयां अपने मेहबूब की रुसवाईयाँ वाह रे महोब्बत तेरे ही दिये गम और तेरी ही बनाई दवाइयां

कुछ देर ही सही पर हमें तुम्हारी बाहों में सुला देना अगर आँखें खुली हो हमारी तो कुछ देर बाद ही सही उठा देना अगर बैंड हो आँखें अगर तो एक मेहरानि कर हमें दफना दें 

उन परिंदों को कभी भी अपने गिरफ्त में रखना नियत नही है हमारी जो हमारे सीने में ही रहकर गैरों के साथ उड़ने की सोचे उन पंछियों को कैद में रखना आदत नही हमारी जो हमारे दिल के पिंजरे में रहकर गैरों के साथ उड़ने का शौक रखते हों

Friends, if you have liked our dil tutne ki Shayari post, then share this dil tune ki Shayari in your friend's circle. You can also send this post to friends on Facebook and LinkedIn, post this dil tutne ki Shayari, you must tell us by commenting.









Post a comment

0 Comments