[Best Collection] of Bashir Badr Shayari | with videos and images |

Bashir badr sahab ki ansuni shayari ya

नमस्ते दोस्तों shayrislap. com पर आपका स्वागत है आज हम आपके लिए लेकर आ चुके है एक नई और अनोखी ब्लॉग पोस्ट जिसका नाम है bashir badr shayari. दोस्तों बशीर बद्र साहब एक बड़ेही प्यारे और सुंदर शक्सियत के मालिक है. 

दोस्तों शायरी के दीवानों में ऐसा कोन होगा जो कि श्रीमान बशीर बद्र की शायरियोंका नहीं होगा, इनकी शायरी और गज़लों में इतनी ज्यादा ताकत है कि हमारे पड़ोसी देश पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री श्रीमान जुल्फिकार अली भुट्टो ने इंदिरा गांधी जी को एक बार भारत के दौरे पर सुनाया था जो कि काफी मजेदार है जिसे हमने इस ब्लॉग पोस्ट में भी जोड़ा है. 

Shuru karte hai 

तुम👩‍⚕️ अपने 🤠गुरुर को🤗 थोड़ा 😉कम करो😎 वरना किसी दिन😇 तुम्हारे साथ 👩‍⚕️बुरा हो 😄जाएगा, हमारा💯 क्या है 😏हम तो 🙌एक दरिया 🌊है जिस भी 🤗दिशा अपने 😉कदम जमाएंगे🙌 वहां रास्ता हो😎 जाएगा
Is image mai hmne bashir badr ki shayari ko add kiya hai
Bashir badr ki shayari

बाहर 😇 न आओ ❌घर में रहो👩‍⚕️ तुम नशे🤠 में हो,🤗 सो जाओ🙌 दिन को रात 😎करो तुम 😤नशे में हो, 🌊दरिया 💯से इख़्तेलाफ़ का☺️ अंजाम तुम 😉सोच लो,🤗 लहरों के 🌊साथ साथ🤗 बहो तुम नशे😊 में हो,
 अगर😇 मैं इस 🌍जहां में 😎ढूंढू तो 😄कोई न ❌कोई जरूर 😇मिल जाएगा🤠, लेकिन 👩‍⚕️तुम जैसी 😍आशिकी 🙌मुझसे कौन😇 करेगा 

तुम👩‍⚕️ हमें इश्क़ 😍करने की😎 सलाह देते🙌 हो हमने तो😇 उसके इंजतार 👩‍⚕️में बर्बाद 😤ये जिंदगानी कर 😑ली

शायद😎 इसीलिए इस 🤗जहां में एक😉 बेगाना अजनबी🙌 हूं मैं, सारा 😇जमाना फरिश्तों 💯से भरा है🤠 लेकिन क्या😏 करूं एक 😎मामूली आदमी 😇हूं मै

क्या🤗 तुम्हारे 😉अजीज ☺️ दोस्तों ने 😎शराब पिलाई😏 है, तुम्हे रात 😎भर अब दुश्मनों😉 के साथ ☺️रहो तुम नशे में💯 हो, बेहद 🤗शरीफ लोगों 🙌से थोड़ा फासला🤠 रखो पिलो😇 लेकिन कभी❌ मत कहो कि🤠 तुम नशे में😉 हो. कागज़🤗 के ये लिबास 😎चिरागों के🔥 शहर में जाना थोड़ा😇 सम्हल के 🤠चलो तुम नशे 😉में हो.

वक्त🤠 ए रुक्सत🤗 कहीं तारे😎 कहीं 😉जुनूं आये😄 हार पहनाने🙌 मुझे फूल 😉से बाजू आये 💯बस गयी है,☺️ मेरी एहसासों 😄में ये कैसी महक🤗 कोई 🤠खुशबू में😍 लगाऊं तेरी 👩‍⚕️खुश्बू आये 😇और उसने 🙌छूकर मुझे💯 पत्थर से फिर😉 इंसान किया 🙌मुद्दतों बाद मेरी😎 आँखों में आंसू👀 आये 

आखिर😊 हम दोनों🙌 मिले भी😎 तो क्या 😤मिले वही दूरी है😏 और वही😇 कम्बखत फासला🤗 है तुम्हारी 💯और न कभी ❌हमारे कदम😎 बढ़े और न ❌कभी तुम्हारे ❤️दिल से कभी ☺️झिझक गयी

Best bashir badr shayari in hindi

कोई 😉फूल धूप 😄की पत्तियों 🤗में हरे रिबन 🙌से बंधा हुआ 😄वो ग़ज़ल का 😎लहज़ा नया💯 नया न कह❌ हुआ 😎न सुना ❌हुआ 

जनाब 😉शायद हमने🤠 गलती बहोत😇 बड़ी करदी🤗, इस ❤️दिल ने कम्बखत😏 जमाने से🙌 दोस्ती 😎करली

दोस्त🤗 मेरे दिल ❤️की बस्ती तो😇 दिल्ली है 🤗जो भी मुसाफिर🙌 गुज़रा उसने 😤बेशक लूटा है.

ये 😇शौहरत ये 😄बुलंदिया बस 😉कुछ ही🤗 पलों का🤠 तमाशा है😎 इसलिए कभी🙌 इसका गुरुर 😤मत कर❌, जो कोई इंसान 🤗मुसीबत में💯 दिखे उसका😇 मदतगार बनकर 🙌खुदको और भी 😎आबाद कर.

दोस्त 🤠अगर तुझे 😉मेरा कत्ल 😎ही करना 😤है, तो मेरी 👀आँखों में आंखें 😍डालकर कर😇, और अगर 😎मेरी आखों👀 में नहीं देख ❌सकता तो 🤗पीठ पीछे से😇 वार भी कभी ❌मत कर.

यही 😇वो शहर 😉है जिसमें🤠 रहता मेरा 💯बहोत करीबी 😎अजीज है, उसे👩‍⚕️ मेरे आने 🤗की कोई 🙌खबर नहीं ❌और मुझे उसका😉 कोई पता ❌नहीं.

उस 👩‍⚕️से कहों 😇की उसकी 😉याद में 🤗हम आज 😏भी बेइंतहा😏 रोते हैं, जनाब 🤠हम तो ये 💯सुनी रातें🙌 अकेलेपन😎 में जैसे 😇तैसे काटते 🙌हैं, और वो 👩‍⚕️हमारी मोहब्बत 😍से बेखबर होकर😎 बड़े मजे से🤠 किसी और 😍कि बाहों में 😴सोते है, 

Ise bhi padhen : nida fazli shayari hindi mai 

कभी 😇सात रंगों😎 का फूल हो😤 कभी धूप💯 कभी धुल हो😄 में तमाम कपड़े🙌 बदल चुका 😎तेरे मौसमों की बहार🤠 में.

आज😎 नजाने क्यों😏 आखों में👀 बसे आसूं 🤗बहकर सीधा ❤️दिल में उतरे, 🤠अपना रुख🙌 बदला दरिया🌊 ने भी बहने😑 का कैसा.

मुर्दा 😤सांप हमेशा😏 आस्तीन 🤠में ही रहते🙌 है, सिर्फ🤗 ओ सिर्फ😉 जुबां से कहते 😎है, लेकिन 😇कभी भी अपने ❤️दिल से माफ ❌नहीं करते.

Ise bhi padhe : Zindagi shayari in hindi

लोगों🤠 के दिलों ❤️से निकालकर 🤗अब समुन्दर 🌊में बहादो ये 😤नफ़रतें, क्योंकि ☺️अब इंसानों😎 को इंसानियत😍 की जरूरत 😉है बहोत.

 Bashir badr ki dard bhari shayari ya hindi mai

यूं😇 कभी 😄आवारा न ❌फिरा करो😎 कभी घर भी🤠 रहां करो😉 वो ग़ज़ल ✍️की सच्ची किताब 😇है उसे चुपके😎 चुपके पढ़ा ❤️करो

In this bashir badr image we added some amazing bashir badr shayari in hindi language
Bashir badr ki gazal

हर 😎गली मोहल्लों🤗 में सब साथ 🙌मिलकर कभी😉 ईदी तो🤗 कभी दिवाली😇 मनायें, अब 😎दुआ करों☺️ उपरवाले 😑से की दिल❤️ में हमारे थोड़ी 😎इंसानियत और 🤠भाईचारा 😍जगायें.

लहज़ा😇 इतना 😍प्यारा उसका👩‍⚕️ की जैसे🤠 वो सुबह🙌 की पहली अजान😎 है, और नूर 😉इतना आखों 👀में की खुदा 🤠की भी उसमें😇 बसी जान ❤️है.

दुनिया 🌍भले ही तुझे 🤠तंग करे ☺️लेकिन हम 😇हमेशा तेरी मदत👩‍⚕️ के लिए तैयार 🤗रहेंगे, तू एक👩‍⚕️ बार हमें☺️ दिल से ❤️पुकार कर तो😎 देख हम🤠 तेरे लिए👩‍⚕️ हतेली पर💯 अपनी जान रख❤️ देंगे.

Read also :  kumar vishwas ki shayari

मुझे 🤗ये बहती 😎हवा बता ☺️देती है कि 👩‍⚕️तेरे दिल में❤️ मेरे लिए 😇कितनी मोहब्बत😍 है, और तेरी 👩‍⚕️बातों में कितना🤗 ज्यादा सुकूं है, 💯जान देने की🤠 बातें तो हर😍 आशिक करता ☺️है मोहब्बत में,❤️ लेकिन हम😎 है कि तेरे 😴सपनों में😇 पल पल मरते😎 है.
 बडीही 😄पेचीदा है 🤠ये शहर 😉जिंदगानी भी🤗 न सफर ❌है और😎 नाहीं मंजिल❌ है, कहीं😇 सुनी हो🤠 चुकी दोपहर😇 है और 😉बदमिजाज 😤सी रात है

आज 🤠कहीं जाकर😎 हमें पता 🤗चला कि🙌 कितना सुकूं था 👩‍⚕️तेरी बाहों ☺️में जेब से😇 फ़क़ीर होते 💯हुए, और कितना 😍हसीं मेरा जीवन 😎था तेरी मोहब्बत👩‍⚕️ के एहसास😍 में, लेकिन 😉अब तो बरसों🙌 हो गए हमें 👩‍⚕️तेरी आँखों 👀में खोए हुए, 😇जिसकी वजह 😉से सालों से 😎हम सोए भी 😴तो नहीं बिना❌ रातों को रोये🙌 हुए.

 सच्चाई 🤠सियासत से🤗 लेकर अदालत 😑तक कही😇 और ही 🙌मशरूफ है, झूठ 😎बोला करो झूठ😄 में अभी भी आशिकी😍 बाकी है, 😇ये किताबें,अखबार ❌कभी मत पढ़ना 😤लेकिन हर शाम 🤗को दिल की❤️ हर बात को जोर☺️ से पढ़ना.

यूं😇 तो हमारी 🤠बातचीत 💯उनसे अक्सर 🤗होती है,😎 लेकिन बरसो 🙌मुलाकात नहीं ❌होती
जनाब😎 मुखल्फत से 🤗मेरा किरदार😉 और भी🤠 निखरता है, 😇बेशक में मेरे 💯दुश्मनों की आज🤗 भी इज्जत🙌 करता🤠 हूं.

ए 👩‍⚕️हसीं तुझे असल😍 में पाने🤗 में मसला 🙌ये है कि हर 💯पल तुझे 👩‍⚕️खोने के 😤वस्वसे होंगे, तुझसे 😎हाथ मिलाकर 🙌आखिर होता क्या🔥 होगा, देर 😍तक हाथ कांपते🙌 होंगे. 

यहां 😎पर अपने🤗 हाथ कोई 😇इंसां नहीं ❌मिलाएगा, अगर गले😉 मिलोगे टपाक 🙌से, ये बडाही 😎अलग मिजाजों 😇वाला शहर है, 🤗यहां थोड़ा संभल 😤कर मिला 😄करो.

दिए 🔥अपनी खूबसूरती 😍के हमेशा ❤️मेरे दिल के😎 पास रहने 🙌दो, आखिर🤠 किसे पता 🤠कि किस गली🤗 में हमारे जिंदगानी 🙌की शाम हो😑 जाये.

Is post ko bhi padhe : tehzeeb hai shayari

जनाब 🤗अपना सर😎 मत झुकाओ❌ गुजरता हुआ हर😉 मुसाफिर खुदा😍 हो जाएगा, 🤠और इतनी 😄शिद्दत से कभी ❌मत चाहो उस😇 हमसफर को🙌 वो बेवफा हो👩‍⚕️ जायेगा, दोस्त 😎तुम सोचते😎 हो में उस से🤗 भी ज्यादा😤 जिद्दी हूं, 🙌एक दिन मेरा 😎यही जिद्दीपन😏 हमारी मंजिल🤠 को हमारे कदम😇 चुमवायेगा.

In this bashir badr's image we added some amazing love shayari of bashir badr
Love shayari by bashir badr

हम🤗 किसी दिन 😎तुझसे राब्ता 🤠करने जरूर 😇आयेंगे, ए🙌 जिंदगी हमें✍️ तेरा पता 💯चाहिये.
जनाब 😇उसके तो🙌 हर गली 🤠मोह्हलों में चर्चे 😄है, और सच 😤कहूं तो मिठास 😍की वो मूरत है, 😎कल यूंही आवारा 💯घूम रहा था मैं😇 फिर मुझे🤠 पता चला 😑कि असल में 👩‍⚕️वो कितनी 😍खूबसूरत है.

जनाब 🤠हमारा जी 😎तो बहोत चाहता😍 है कि दिल❤️ में बसी 🙌सच्चाई को👩‍⚕️ तुम्हारे कानों😇 में आहिस्ता 😄से बोले लेकिन 😉क्या करें हौसला❌ नहीं होता.

जनाब 😇लोग अक्सर 😎अपनी जिंदगी 💯दाव पर लगाते😄 है, एक छोटासा😑 घर बनाने में, 🙌आखिरकार तुम👩‍⚕️ तरस क्यों 😤नहीं खाते ❌लोगों से 🤗भरी बस्तियां🔥 जलाने में फाख्ता 🤠की मजबूरी किसी 😏से ये भी❌ कह नहीं 😄सकती कि कौन😇 कम्बखत सांप 😤रखता है😑 अपने खूबसूरत😍 आशियाने 😇में.

जनाब 😇अक्सर 👀आखों में रोशनाई 🔥आ जाती है😎 सोते वक्त, 🙌मेरी आँखों को👀 आजतक ख्वाब 😴छुपाने नहीं ❌आये.

में😉 उसके 👩‍⚕️लबों को 😎जी आया था 🤠उसकी तन्हाई😇 को पी 🙌आया था, मोहब्बत😍 करता था मैं 🤗उससे इतनी की 🤠खुदा तक को💯 चुनौती दे आया😄 था.

मेरे 😇दिल ने उसको❤️ हर बार पुकारा🤗 था लेकिन वो😄 किसी और 😉के इश्क़ में 😍मदहोश था 😏एकतरफा ही सही 😊लेकिन दिललगी ❤️करता था मैं 👩‍⚕️उससे इतनी की 💯उसकी एक 😄झलक देखकर😊 खुदको फनाह😉 महसूस करता😎 था.

Ise bhi padhe : john Elia ki shayari   

जनाब 😇हमसे दुश्मनी🤗 जान लगा🤠 कर करो, 😉लेकिन ये☺️ भी याद🙌 रखों जिंदगी में😄 जब कभी 😇हम वापस😎 दोस्त हो😉 जाये तो❤️ दिल में😤 शर्मिंदगी न ❌हो.

Is image mai hmne bashir badr ki sabse anokhi shayari ko joda hai
Bashir badr ki gazal

जनाब 😎आखिर कुछ🤠 तो वजह 😇रही होगी बेवजह💯 कोई भी यूंही खफा❌ नहीं होता, 😉हा पता है कि 👩‍⚕️वो तुम्हारी😍 वफ़ा के ❌लायक नहीं है, लेकिन ये☺️ भी जानलो बिना 😇किसी मजबूरी के 👩‍⚕️कोई बेवफा नहीं ❌होता.

जिस😇 तरह से 👩‍⚕️तेरी यादों 😍में मोहब्बत 🤗भरपूर है उसी 😤तरह से 🤠हमारी जिंदगी 😏में तन्हाई की 💯रातें कई है, 🙌नजाने कब 😊खत्म होगा ये 😇सिलसिला क्योंकि😉 हमें भी जिंदगी 😄में दोबारा 😍आशिकी कर😎 जिंदगी खत्म😑 करनी है.

Bashir badr sahab ki sabse lokpriya gazal 

दोस्तों बशीर जी का पूरा नाम  सय्यद मोहम्मद बशीर है और इनका जन्म 15 फेब्रुवरी 1935 को अय्धोया मध्य प्रदेश में हुआ था. दोस्तों डॉ. बशीर बद्र साहब स्कूल के शुरुआती दिनों से ही शायरियां और ग़ज़ल लिख रहें है, कहा जाता है कि बशीर बद्र साहब 7 साल के थे तबसे लिखने का शौक फ़रमा रहें है, दोस्तों इनके पढ़ाई के बारे में बताए तो इनकी शुरुआती स्कूली शिक्षा के बाद उन्होंने अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में अपना दाखिल लिया, जहां उन्होंने बैचलर ऑफ आर्ट्स, मास्टर ऑफ आर्ट्स, और अपनी पीएचडी पूरी की फिर कुछ समय बाद वो व्याख्याता (lecturer) के रूप में वो उसी विश्वविद्यालय बच्चों को पढ़ाने लगे, 

दोस्तों उन्होंने अपने जिंदगी के 17 साल मेरठ कॉलेज में भी पढ़ाया इन सब के बीच में बशीर बद्र की शायरी यां भी किताबों के रूप में छपती रही. जिनका नाम है आज़ादी के बाद और दूसरी ग़ज़ल का तनकीदी मुताला. दोस्तों उनकी कई गज़लें और शायरियां काफी ज्यादा लोकप्रिय हुई जैसे कि उजाले अपनी यादों के, आहत और भी कई सारी. 

फिर दोस्तों 1987 को मेरठ मैं हुए हादसे में उनकी काफी मात्रा में संपत्ती बर्बाद हुई जैसे कि उनका घर उनकी गाड़ी इत्यादि, फिर वो इस हादसे की वजह से मेरठ को छोड़ कर अपने परिवार के साथ वो सीधा भोपाल में रहें जहां बशीर बद्र की शायरियोंको काफी सराहना मिली.

दोस्तों श्रीमान बशीर बद्र की शायरियों और ग़ज़ल के दीवाने सिर्फ ओ सिर्फ हिंदुस्तान में ही नहीं है वो तो बॉर्डर पार पाकिस्तान और बांग्लादेश में भी है. दोस्तों बशीर बद्र साहब को उनकी शायरियां और उनकी गज़लों की वजह से देश के सबसे लोकप्रिय अवार्ड में से एक पद्म श्री अवार्ड मिला है .हालांकि उनकी शक्सियत को कोई भी अवार्ड परिभाषित नहीं कर सकता. 

दोस्तों दुर्भाग्य से उनको एक बीमारी है जिसका नाम है dementia जो कि हमारी पिछली बातें, हमारे सोचने समझने की शक्ति को कम करता है. हालाकिं उनके चाहने वालों की दुआएं हमेशा उनके साथ है. 

किसी 🤠जमाने में हम😎 भी उसके💯 करीबी थे 😄और उसके👩‍⚕️ बहोत ज्यादा 🤗अजीज थे,😄 लेकिन आज😇 सुबह कुछ😄 इस कदर 😉हमसे मिला 🤗है वो, जैसे🤠 पहले😇 जिंदगी में हमसे😄 कभी मिला❌ न हो, हमें 🙌कभी बारिशें🌊 दे कभी 🤠कड़कड़ाती धूप दे🔥 लेकिन मुझे कुछ😏 ऐसी 😑जगह पर😤 बंद कर 💯जहां इस कम्बखत😄 जिंदगानी 😇की हवा❌ न हो.

Read also : shakeel azmi ki shayari 

उसको👩‍⚕️ यादों में😇 ही सही 🤠लेकिन हर 💯पल मेरे😎 साथ रहने 🙌दो उसको👩‍⚕️ ख्वाबों में 😍ही सही😉 लेकिन मेरी😴 नींदों में रहने 😄दो, और💯 किसतरह रहूं 😎में उसके 👩‍⚕️साथ, एक🙌 काम करो🤠 मेरे जिंदगी 😇का हर लम्हा 😎उसके नाम 😉कर दो.

ए 🤠ज़िन्दगी 😇आखिर तूने😎 हमें क़ब्र से😄 भी कम 🤗दी है ज़मीं 🤠जब भी पैरों 🙌को फैलाता हूं😤 अक्सर दीवार पर😇 सर लग 💯जाता है.

हमने 🤠न उसके😎 ठीक से👀 दीदार किये 😉और नाही❌ उससे 😄कभी जिंदगी😇 में बात की 😇बहोत तलप 😇थी हमें उससे👩‍⚕️ एक मुलाकात 💯की। 

जनाब🤠 जिंदगी 🤗में बड़े लोगों😎 से हमेशा 🙌सौ गज का फासला 💯रखना, क्योंकि 😇जिस जगह😜 एक दरिया 🌊बड़े समुन्दर ☺️से मिले 🌊दरिया कभी😇 दरिया नहीं ❌रहता

उस 🤗हसीं को👩‍⚕️ सच्ची 😍मोहब्बत पर 🙌यकीन नहीं❌, लगता 😑है इस 😤कम्बखत दुनिया🌍 ने उसे बहोत👩‍⚕️ ज्यादा सताया🙌 है, चौबीसों 😇घंटे अपने❤️ दिल को🤗 गुलाब समझकर 😎शबनम में बिघोते😍 है, आखिरी 🙌सांस तक ❤️आशिकी निभाने😇 वाले लोग😎 बहोत 💯ख़ूबसूरत 😍होते है.

लोगों 😇को सिर्फ😎 अंधेरा दिखता 🙌है हमारे 😍मोहब्बत के 💯आशियाने में 😄अब उन्हें🤠 कौन 😏समझाये 😑की सदिया 🤗लग जाती है, 😉किसी की 👩‍⚕️यादों को🤗 भुलाने में❌ और अब 😇सुकूं सिर्फ🤠 मिलता है 😤हमें रात 🤠के अंधेरे में, 👀आखों को 🤗कुछ चुभता है😄 दिन के उजाले😇 में. 

हमारे 😇रास्ते भलेही😄 एक से 🙌हो लेकिन💯 हमारी मंजिल😎 जरूर अलग ☺️होगी, जैसे 👩‍⚕️कि तुम भी🤗 मुसाफिर हो 🤠और हम 😇भी मुसाफिर है, 💯जिंदगी रही तो 😄किसी ओर😇 मोड़ पर फिर 😎से हमारी 🙌मुलाकात 😇होगी.  

जिस😇 दिन से😄 हमने अपने 🤗कदमों को 🤠मंजिल की और😉 बढ़ाया है, हमारी👀 आखों ने😄 कभी नींद🙌 का चेहरा 😎तक नहीं ❌देखा. और🤠 हमें जलाने 🔥के लिए जो👩‍⚕️ तुम अपने😉 हुस्न की🤗 नुमाइश करते🙌 हो जिन्होंने👩‍⚕️ तुम्हारा दीदार 😄किया हमने 🤗वापस उसे😇 कभी जिंदा❌ नहीं देखा

Is image mai bashir badr ki sabse anokhi shayari jodi hai
Bashir badr ki sabse anokhi shayari

आप 🤠अगर हमें😇 यूं बीच 🌊मझधार में 🙌अकेले छोड़ कर 😎जाओगे बेशक 😤हम मर 😏जाएंगे और 😑बदनसीबी 💯से बच भी🤗 गये, फिर 😇भी कभी 😤चैन से जी❌ नहीं 🤠पायेंगे

Read must : mirza ghalib ki shayari  

कड़ी 😇धूप में 😎बादल गरजें 😄बारिश हुई 🤗सुखी पड़ी जमीं को🤠 जैसे तैसे 🌊पानी मिला,💯 और एक ही 😎तो शख्स 👩‍⚕️मांगा था 🤠ये जिंदगी 😏तुझसे लेकिन😤 आखरी सांस 😇तक मुझे😄 उसके👩‍⚕️ हुस्न-ए-दीदार😍 तक नही❌ मिला. 

हसींनाओं 👩‍⚕️से तो 😇भरा है 🌍ये पूरा जहां 🤗लेकिन इनकी😎 भीड़ में कोई ❌नहीं है तुझसा,👩‍⚕️ जो उसके हमदर्द ❤️का दिल जलाए 🔥बहोत लेकिन😉 फिर भी😇 हमनवां ही🤠 लगे.

अपने😤 सीने में😇 पत्थर का ❤️दिल रखने 😎वालों, इन सुनी 😑रातों में 🤠वो रवानी है😏, खुदबखुद 😤अपना😇 रास्ता बना 🙌लेगा बहता हुआ 🌊पानी है.

थोड़ी🤠 देर के लिए 😇ही सही🙌 लेकिन हम 😎मुस्कुराना चाहते 😄है, लेकिन क्या ☺️करें हुजूर ये🤗 कम्बखत❤️ दिल हमेशा 🙌उदासी में ही🤠 गुजरता है, 

इतनी 🤠ज्यादा 😇मिलती है 😎मेरी शायरियोंकी✍️ लिखावट तेरी👩‍⚕️ सूरत से, 😍जमाना तुझे 👩‍⚕️ही मेरा🙌❤️ मेहबूब समझता 🤗होगा.

जनाब 🤠वो हमें 😇ज़माने भर 😤में पत्थर कहकर🙌 पुकारता है💯, लेकिन उसे 👩‍⚕️कौन समझाये 🤗जो हम😎 पत्थर होते😑 तो कबका🙌 उसके गुरुर को😤 तोड़ दिया😏 होता. 

वो 👩‍⚕️सिर्फ ओ 🤠सिर्फ हमारी 👀आँखों में😉 ही रहा उसने 👩‍⚕️कभी दिल❤️ में झांक कर❌ नहीं देखा,🌊 कश्ती में 🤗उम्र गुजारकर भी😄 उसने कभी 🙌समुंदर नहीं ❌देखा

Is image mai hmne bashir badr ki gazal ko joda hai
Bashir badr ki gazal

जब 🤠मैं गहरी नींद😴 में सो 😎जाऊं तो💯 एक बार😄 अपने लबों 🤠से मेरे सीने 😄को छू 😄लेना, एहसास 😇हो जाएगा 😉की किसके लिए ❤️दिल की धड़कने🤗 बढ़ जाती है. 

जनाब 😉हमसे 😤दुश्मनी 😎का सफर😄 तो बस 😇कुछ कदमों का🙌 फासला है,🤗 क्योंकि फनाह 😏होकर किसको😇 किस से😑 मसला है.

देखने 😄दो बच्चों😇 को 💯आसमानों को😎 कब्जे में करने के😴 सपने, फिर 😏वापस लौटकर 😤कभी बचपन😍 का दौर नहीं ❌आता.

उसका 👩‍⚕️वो हसीं 😍चेहरा शायद😇 से किताबी ✍️रहां, बहोत 😎ही मजेदार🤠 पढ़ाई हुई.

Bashir badr sahab ki urdu shayari ya 

इस 😎जहां में 🌍बेशक 👩‍⚕️तुम्हे कोई न❌ कोई खूबसूरती 😍से देखेगा 🤠लेकिन हमारी 😇आँखें न ❌जाने वो 😄कहाँ से 🤠लाएगा.

तुम 👩‍⚕️भी मदहोश😴 हो हम भी😇 होश में ❌नहीं कल☺️ तक जो 😎अपना था वो🤗 अब अपना❌ नहीं है अब😉 क्या बुराई करें 💯हम इस 😇जमाने की 😎कल तक🤗 जो मासूमियत🙌 चेहरे पर 😎लिए घूमते थे😉 अब तो🔥 वो भी मासूम ❌नहीं है 

In this bashir badr image we added some New and amazing bashir badr shero shayari
New bashir badr shero shayari

ये🤠 बहोत ही लंबा 😎सफर है, 😇कोई मुसाफिर 💯आयेगा तो 😑कोई मुसाफिर 🤗जाएगा, जिस😤 कम्बखत ने😑 तुम्हें अपनी 🙌यादों से मिटाया❌ है, तुम भी उसे ❤️दिल से निकालने 😇की दुआ😉 करो

 ईश्वर, 🤠अल्लाह,🙌 गॉड, खुदा ये☺️ ऐसे अनोखे😉 एहसासों के😇 नाम है,😎 रहते हमेशा💯 साथ है 😄लेकिन कभी 🤗दिखाई नहीं ❌देते.

Ise bhi padhe : urdu shayari  

सच्ची 🤗मोहब्बत में😍 बहोत ही 😇ज्यादा जरूरी 🤠है कुछ पलों😉 के लिए😤 बेवफाई 😄करना.

जनाब 😇इश्क़ वो 😍एहसास है 🙌जो हरपल 🤗साथ रहता है, 😄चाहे तन्हाई🙌 हो या❤️ मोहब्बत की 🤠बारिश 😑 हमेशा बनकर ❤️दिल रहता ही.

एक😇 हंसी से 😄मोहब्बत 😍कर हमारा 😎ये हशर हुआ🤗 रहमत है😇 उपरवाले 🙌की हमें कोई🤠 दूसरा हमनवां ❌नहीं 💯मिला.

जनाब 😄चगमगा 🤗उठी है,😉 जहां 😎आसमान के🤠 तारों से ☺️लगता है 😉खुदा फिर 💯किसी की😇 मोहब्बत 😍पर मुस्कुरा 😄पड़ा है,  

जिंदगी😇 में कभी 😄तो कभी तो😑 हमारी 😉मुराद पूरी हो और ❤️दिल हमारा 😇बागबां हो 💯जाये, कभी तो😎 साथ में 👩‍⚕️बैठे तू और 🤠सुबह की😏 शाम हो 😍जाये.

हमारे 😇ईमान से 😄हमेशा अच्छाई😎 की महक ☺️आनी चाहिए 🙌सिर्फ बस 😎शर्त है उसमें 😉कोई बेवफा❌ न हो.

उस 😇गांव में 😎सभी के 😏सभी घरों🤠 की दीवारों ✍️पर नाम थे, बहोत 😄देर ढूंढा लेकिन 😇कोई इंसान ❌नहीं मिला

दोस्तों डॉ बशीर बद्र शायरी की ब्लॉग पोस्ट कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताएं क्योंकि हमारी टीम ने इस ब्लॉग पोस्ट को काफी रिसर्च करके प्रकाशित किया है. आप हमारी यह बशीर बद्र शायरी की ब्लॉग पोस्ट अपने दोस्तों के साथ भी सांझा कर सकते है जिससे वो भी इन नायाब और खूबसूरत शायरियोका मजा ले सके धन्यवाद.

Post a comment

0 Comments